भारत सरकार ने स्वर्णिम चतर्भुज और इसकी भुजाओं के साथ बन्दरगाहों को जोड़ने के लिए सामरिक रेल संपर्क स्थापित करने, देश के पश्य क्षेत्रों में संचार व्यवस्था में
रेविनिलि की स्थापना की स्वीकृति भारत सरकार द्वारा 19.12.2002 को प्रदान कर दी गई थी और यह कंपनी अधिनियम, 1956 के अधीन कंपनी के रूप में 24 जनवरी, 2003 को पंजीकृत हो गई थी। यह 100%
रेविनिलि द्वारा परियोजनाओं को तीव्र गति से पूरा करने में मदद करने के लिए भारत सरकार ने रेविनिलि परियोजनाओं की स्वीकृति प्रदान करने के लिए तीव्रगामी पद्धति विकसित करने पर जोर दिया है। इस पद्धति की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं-
भारत सरकार ने स्वर्णिम चतर्भुज और इसकी भुजाओं के साथ बन्दरगाहों को जोड़ने के लिए सामरिक रेल संपर्क स्थापित करने, देश के पश्य क्षेत्रों में संचार व्यवस्था में सुधार लाने के लिए बड़े-बड़े पुलों के निर्माण करने और बहु-आयामी परिवहन गलियारों को तैयार करके रेल सेक्टर की क्षमता गत्यावरोध को दूर करने हेतु एक विशाल निवेश योजना बनायी है।

रेल विकास निगम लिमिटेड (रेविनिलि) एक विशेष