प्रथम पृष्ठ » रेल विकास निगम लिमिटेड(रेविनिलि) के संबंध में जानकारी

रेल विकास निगम लिमिटेड के संबंध में जानकारी

भारत सरकार ने स्वर्णिम चतर्भुज और इसकी भुजाओं के साथ बन्दरगाहों को जोड़ने के लिए सामरिक रेल संपर्क स्थापित करने, देश के पश्य क्षेत्रों में संचार व्यवस्था में सुधार लाने के लिए बड़े-बड़े पुलों के निर्माण करने और बहु-आयामी परिवहन गलियारों को तैयार करके रेल सेक्टर की क्षमता गत्यावरोध को दूर करने हेतु एक विशाल निवेश योजना बनायी है।

रेल विकास निगम लिमिटेड (रेविनिलि) एक विशेष उद्देश्यीय उद्यम है, जिसका सृजन परियोजना विकास, वित्तीय संसाधनों की व्यवस्था करने और स्वर्णिम चतुर्भुज और पत्तन संपर्क मार्ग़ों के सुदृढ़ीकरण से संबंधित परियोजनाओं के क्रियान्वयन के लिए किया गया है। वाणिज्यिक स्वरूप में भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप रेल परिवहन क्षमता के सृजन के लिए यह पहला प्रमुख गैर-बजटीय कदम है। रेविनिलि का कंपनी के रूप में पंजीकरण दिनांक 24.01.2003 को कंपनी अधिनियम 1956 के अधीन किया गया। रेविनिलि कंपनी अधिनियम के खण्ड 617 के प्रावधानों के अधीन पूर्ण स्वामित्व की एक सरकारी कंपनी है। निगमीकरण का प्रमाणपत्र दिनांक 24.01.2003 को प्राप्त हुआ था।