​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​रेविनिलि के एसपीवी

रेल विकास निगम लिमिटेड (रेविनिलि) के अधिदेश के भाग के रूप में, परियोजना विकास, वित्तीय संसाधन जुटाना और स्वर्णिम चतुर्भुज के सुदृढ़ीकरण और विभिन्न बंदरगाहों से बेहतर कनेक्टिविटी से संबंधित परियोजनाओं को लागू करने के लिए संयुक्त उपक्रम(जेवी) के रूप में छह विशेष प्रयोजन कंपनी (एसपीवी) का गठन किया गया है।

इन एसपीवी के माध्यम से, रेविनिलि ने 7743.15 करोड़ रुपये का संचयी निवेश जुटाया है, जिसमें से 2676.51 करोड़ रुपये इक्विटी के रूप में हैं और 5066.64 करोड़ रुपये वित्तीय संस्थानों से ऋण के रूप में है। रेविनिलि ने इन 6 एसपीवी में इक्विटी के रूप में कुल 983.85 करोड़ रुपये का निवेश किया है, जो इन एसपीवी में कुल निवेश का लगभग 12.71% है (नीचे तालिका देखें)।

एसपीवी का नाम कुल इक्विटी (रू. करोड़ में) रेविनिलि की इक्विटी (रू. करोड़ में) प्रतिशत भागीदारों की इक्विटी (रू. करोड़ में) प्रतिशत ऋण (रू. करोड़ में) जोड़(रू. करोड़ में)
कच्छ रेलवे कंपनी लिमिटेड (301 किमी)250125 50%12550%300550
भरूच दाहेज रेलवे कंपनी लिमिटेड (63 किमी)155.115535.46%100.1164.54%230385.11
कृष्णापत्तनम रेलवे कंपनी लिमिटेड (113 किमी)62531149.76%31450.24%10751700
हरीदासपुर पारादीप रेलवे कंपनी लिमिटेड (82 किमी)1046.30303.8029.04%742.5070.96%1861.642907.94
अंगुल सुकिंदा रेलवे लिमिटेड (102 किमी)60018931.5%41168.5%16002200

 

दिघी रोहा रेल लिमिटेड (34 किमी)*

0.100.0550%0.0550%0.000.10
जोड़2676.51983.8536.76%1692.6663.24%5066.647743.15​

*अब तक इस परियोजना के लिए रेविनिलि और प्रत्‍येक भागीदार ने 5 लाख रु. दिए हैं।

एसपीवी की मुख्य विशेषताएं:

क)कच्छ रेलवे कंपनी लिमिटेड (केआरसी)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई301.0 किमी
परियोजना प्रकार पालनपुर-गांधीधाम खंड का आमान परिवर्तन
मंडल, रेलवे अहमदाबाद, पश्चिम रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया गुजरात में दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट और मुंद्रा
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -50%

दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट (पहले कांडला पोर्ट ट्रस्ट) - 26%

गुजरात सरकार-4%

अदानी पोर्ट एंड एसईजेड लिमिटेड -20%.

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)वर्ष 2006
टर्नओवर 2018-19 (अनंतिम)731.5 करोड़ रुपये

कंपनी मुंद्रा और दीनदयाल बंदरगाहों से यातायात के प्रवाह में प्रत्याशित वृद्धि की जरूरतों को पूरा करने के लिए समख्यिाली-पालनपुर खंड (248 किमी) के दोहरीकरण का कार्य कर रही है। परियोजना को रेविनिलि द्वारा निष्पादित किया जा रहा है। लागत: 1548.66 करोड़ रुपये: रेल मंत्रालय द्वारा स्वीकृत

अधिक जानकारी के लिए कृपया कच्‍छ रेलवे कंपनी लि.देखें।

ख) भरूच दाहेज रेलवे कंपनी लिमिटेड (बीडीआरएल)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई62 किमी
परियोजना प्रकार आमान परिवर्तन
मंडल, रेलवे वडोदरा, पश्चिम रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया दक्षिण गुजरात में दाहेज पोर्ट
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -35.46%

दाहेज सेज लिमिटेड-6.45%

गुजरात मैरीटाइम बोर्ड-11.51%

गुजरात औद्योगिक विकास निगम -11.51%

जिंदल रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड -6.45%

हिंडालको इंडस्‍ट्रीज लि.-8.72%

गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर कंपनी-8.72%

अदानी पेट्रोनेट (दाहेज) पोर्ट प्राइवेट लिमिटेड-11.17%

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)वर्ष  2012
टर्नओवर 2018-19 (अनंतिम)86 करोड. रुपये​​

ग) कृष्णापटनम रेलवे कंपनी लिमिटेड (केआरसीएल)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई113 किमी
परियोजना प्रकार नई लाइन ओबलावरिपल्ली से कृष्णपट्टनम पोर्ट
मंडल, रेलवे विजयवाड़ा, दक्षिण मध्य रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया आंध्र प्रदेश में कृष्णापटनम पोर्ट
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -49.76%

सागरमाला डवलपमेंट कंपनी लिमिटेड – 20.00%

आंध्र प्रदेश सरकार-5.60%

कृष्णापटनम पोर्ट -12.96%

राष्ट्रीय खनिज विकास निगम लिमिटेड-6.40%

ब्रम्हनी इंडस्ट्रीज लिमिटेड-5.28%.

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)
  1. वेंकटाचलम – निदीगुंटापेलम – 01.10.2008
  2. निदीगुंटापेलम – कृष्णापटनम – 28.02.2009
  3. वेंकटाचलम – कृष्णापटनम दोहरीकरण 21 किमी 02.03.2014​
  4. सम्पूर्ण परियोजना समाप्त – जून 2019
टर्नओवर 2018-19132 करोड़ रुपये​​

घ) हरिदासपुर पारादीप रेलवे कंपनी लिमिटेड (एचपीआरसीएल)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई82 किमी
परियोजना प्रकार नई लाइन: हरिदासपुर से पारादीप पोर्ट
मंडल, रेलवे खुर्दा मंडल, पूर्व तट रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया ओडिशा में पारादीप पोर्ट
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -29.04%

ओडिशा इंडस्‍ट्रीयल इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन, (ओडिशा सरकार)-0.18%

पारादीप पोर्ट ट्रस्ट -36.21%

एस्सेल माइनिंग एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड-2.87%

रूंगटा माइंस लिमिटेड-2.87%

जिंदल स्टील पावर लिमिटेड- 0.48%

भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड- 0.48%

मुन्द्रा स्टील पावर लिमिटेड – 1.43%

ओडिशा खनन निगम -8.88%

ओडिशा सरकार -17.57%

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)अभी भी निर्माणाधीन है

ड) अंगुल सुकिंदा रेलवे लिमिटेड (एएसआरएल)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई104 किमी Y सम्पर्क के साथ
परियोजना प्रकार नई लाइन: अंगुल से सुकिंदा
मंडल, रेलवे खुर्दा मंडल, पूर्व तट रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया ओडिशा में धामरा और पारादीप पोर्ट के बीच यातायात
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -31.50%

जिंदल स्टील पावर लिमिटेड -10%

ओडिशा सरकार - 21.30%

ओडिशा खनन निगम -10.50%

ओडिशा इंडस्‍ट्रीयल इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन-0.70%

कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया -26.00%

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)अभी भी निर्माणाधीन है​

च) दिघी रोहा रेल लिमिटेड (डीआरआरएल)

मुख्‍य विशेषताएं
लंबाई34 किमी
परियोजना प्रकार नई लाइन : रोहा से दीघी पोर्ट
मंडल, रेलवे मुंबई मंडल, मध्‍य रेलवे
ट्रैफिक कैचमेंट एरिया महाराष्ट्र में दिघी पोर्ट से आना – जाना
इक्विटी भागीदार

रेल विकास निगम लिमिटेड -26%

दिघी पोर्ट लिमिटेड-52%

महाराष्ट्र मेरीटाइम बोर्ड – 11%

सागरमाला डवलपमेंट कंपनी लिमिटेड – 11%

वाणिज्यिक परिचालन तिथि (सीओडी) (COD)परियोजना भूमि अधिग्रहण​ की प्रक्रिया के अन्तर्गत है ।​

एसपीवी के कार्य अभी शुरू होने हैं। शेयरधारकों के साथ समझौते को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

गठन की प्रक्रियाधीन नए एसपीवी

महाराष्ट्र में रेवास पोर्ट के लिए रेल कनेक्टिविटी

पोर्ट के लिए रेल कनेक्टिविटी और रेल अवसंरचना के विकास के लिए जहारानी मंत्रालय के साथ रणनीतिक साझेदारी।

रेविनिलि ने भारतीय पोर्ट रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईपीआरसीएल) के गठन में भागीदारी की है, जो जहाजरानी मंत्रालय के अधीन एक SPV के रूप में बनाया गया है। एसपीवी के पास रेल निकासी नेटवर्क को मजबूत करने और बंदरगाहों तक अंतिम मील कनेक्टिविटी के लिए परियोजनाएं शुरू करने का अधिदेश है।

मुख्‍य विशेषताएं:

  • आईपीआरसीएल की प्रारंभिक अधिकृत पूंजी 500 करोड़ रुपये है।
  • हितधारकों में 12 प्रमुख बंदरगाह और रेविनिलि शामिल हैं।
  • रेविनिलि की इक्विटी भागीदारी केवल 10 करोड़ रुपये तक सीमित है यानी शुरुआती सब्सक्राइब्ड शेयर पूंजी का 10%।
  • एसपीवी का अधिदेश: पोर्ट रेलवे के रख-रखाव, उन्नयन और आधुनिकीकरण का कार्य करना और जहाँ आवश्यकता होगी, वहाँ क्षमता निर्माण करना।

सहायक कंपनी

हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एचएसआरसी)

350 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से यात्री गाडि़यां चलाने हेतु भारत में हाई स्पीड रेल (HSRC) कॉरिडोर का निर्माण करने के लिए, राष्ट्रपति की मंजूरी लेने के बाद, रेल विकास निगम लिमिटेड (रेविनिलि) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के रूप में हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (HSRC) का गठन किया गया है। । HSRC द्वारा शुरू की गई परियोजनाओं और निगम का विवरण इस रिपोर्ट के भाग ’I’ के रूप में शामिल निदेशकों की रिपोर्ट में देखा जा सकता है।

​​​​