​​​​ परियोजना कार्यान्‍वयन मोड

परियोजना कार्यान्‍वयन के मॉडल्‍स
​ ​

रेविनिलि मुख्य रूप से निम्नलिखित मॉडल के माध्यम से रेल परियोजनाओं का कार्यान्‍वयन कर रहा है:​​

​​​​

• इक्विटी और ऋण वित्तपोषण वाले परियोजना विशिष्ट एसपीवी का गठन।

• बिल्‍ड आउन ट्रांसफर (बीओटी) रूट, जिसमें प्राइवेट डेवलपर द्वारा इक्विटी और ऋण द्वारा पूरी  धनराशि की व्‍यवस्‍था की जाती है।

• निजी रेलवे, जिसमें परियोजना का वित्‍तपोषण बंदरगाह परियोजना के रूप में किया जाता है।

• परियोजनाओं का कार्यान्‍वयन जोनल रेलवे की निर्माण इकाइयों के माध्यम से या रेविनिलि द्वारा ईपीसी ठेके देकर किया जाता है और रेविनिलि द्वारा सीधे धनराशि की व्‍यवस्‍था की जाती है।


एसपीवी के माध्यम से कार्यान्वित परियोजनाएं

पूर्ण परियोजनाएँ/ आंशिक  रूप से पूर्ण परियोजनाएँ


निम्नलिखित परियोजनाओं को परियोजना विशिष्‍ट विशेष प्रयोजन कंपनी (एसपीवी) के गठन के माध्यम से कार्यान्वित किया गया है, जिसमें रणनीतिक और वित्तीय दोनों निवेशकों की इक्विटी भागीदारी है।

• गांधीधाम - पालनपुर आमान परिवर्तन (गुजरात)

• भरूच - समनी - दाहेज आमान परिवर्तन (गुजरात)।

• ओबुलावरिपल्ली–चरण-I वेंकटचेलम-कृष्णापटनम नई लाइन (आंध्र प्रदेश) ​​


कार्यान्वयन के अधीन परियोजनाएं

• हरिदासपुर-पारादीप नई लाइन और आरई (उड़ीसा)

• अंगुल-सुकिंदा नई लाइन और आरई (उड़ीसा)


बीओटी/ईपीसी संविदा के माध्यम से कार्यान्वित की जाने वाली परियोजनाएँ

बीओटी मॉडल के माध्यम से परियोजना के कार्यान्वयन के लिए प्राइवेट डेवलपर​​ द्वारा परियोजना के वित्तपोषण और निर्माण की आवश्यकता होती है। रेविनिलि डेवलपर को एक निश्चित अवधि के लिए पहुंच प्रभार का भुगतान करेगा। ईपीसी संविदा के मामले में, वित्तीय संसाधन रेविनिलि द्वारा जुटाए जाएंगे और प्राइवेट फर्म निर्माण का कार्य करेंगी। निम्नलिखित परियोजनाओं की पहचान की गई है:

​​

• दिल्ली-रेवाड़ी दूसरी लाइन का आमान परिवर्तन(उड़ीसा)

• रेवाड़ी- फुलेरा-अजमेर आमान परिवर्तन

• जंक्शन केबिन-पलवल चौथी लाइन

• तंजावुर-विल्लुपुरम आमान परिवर्तन

• दौंड-गुलबर्गा दोहरीकरण

• पुनस्कुरा-खड़गपुर तीसरी लाइन

• भिलडी-समदड़ी आमान परिवर्तन

• पनवेल-जेएनपीटी दोहरीकरण

• भोपाल-बीना तीसरी लाइन

• दैतारी-बांसपानी नई लाइन और बांसपानी-जाखपुरा आरई

• पकनी-सोलापुर दोहरीकरण

• पकनी-माहोल दोहरीकरण

• पलवल-भूतेश्वर तीसरी लाइन

• कुड्डालोर- सेलम आमान परिवर्तन (तमिलनाडु)

• दीवा-कल्या्न 5वीं और 6ठीं लाइन दोहरीकरण

• गुरुप-शक्तिगथ: तीसरी लाइन

• नई दिल्ली-तिलक ब्रिज: 5वीं और 6ठीं लाइन

• अट्टिपट्टू-कोरुक्कुपेटई तीसरी लाइन

• बालापल्ले-पुलम्पेट: गूटी-रेनिगुन्टा दोहरीकरण का चरण-1

• खड़गपुर/निपमुरा-भुवनेश्वर तालचेर-कटक-पारादीप की शाखा लाइन सहित

• भुवनेश्वर-कोटावलासा

• जाखपुरा-हरिदासपुर तीसरी लाइन दोहरीकरण

• टिकीपाड़ा-संतरागाछी

• पंसकुरा-हल्दिया चरण-I

• बरौनी-तिलरथ बाईपास दोहरीकरण

• हॉसपेट-गुंतकल

• सालका रोड-अनूपपुर दोहरीकरण

• पंसकुरा-हल्दिया चरण- II


प्राइवेट रेलवे के रूप में विकसि​​त की जा रही परियोजनाएं


• वल्लारपडियम-इडापल्ली नई लाइन (केरल)

• परियोजनाओं को एडीबी फंडिंग के माध्यम से कार्यान्वित किया जा रहा है

• बिरुपा में महानदी पर दूसरे पुल के साथ तलचर-कटक-पारादीप दोहरीकरण।

• गूटी-रेनिगुन्टा कहीं-कहीं दोहरीकरण

• बिलासपुर-उरकुरा तीसरी लाइन

• रजतगढ़-बारंग

• कटक-बारंग दोहरीकरण

• खुर्दा-बारांग तीसरी लाइन

• अलीगढ-गाजियाबाद तीसरी लाइन

• रायचुर-गुंटकल दोहरीकरण  

• रेनीगुंटा-गुंटकल रेल विद्युतीकरण

• पुणे - गुंटकल रेल विद्युतीकरण

• पट्टबीराम-तिरुवल्लूर चौथी लाइन और तिरुवल्लूर-अरकोनम तीसरी लाइन दोहरीकरण


पूछताछ और जानकारी के लिए, कृपया हमें info@rvnl.org   पर मेल करें​